झारखंड के कलाकार अब फिल्म निर्देशन में रख रहे हैैं कदम

0
98

रांची : झारखंड अब फिल्म हब के रूप में उभरने लगा है। झारखंड में अब फिल्म निर्माण की गति तेज होने लगी है। इसका सबसे ज्यादा फायदा यहां के स्थानीय कलाकारों को हो रहा है। इसीके साथ ही झारखंड के स्थानीय कलाकारों की प्रतिभा भी अब सामने आने लगी है। कलाकार अब निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रखने लगे हैं। झारखंड के चतरा जिले की पितिज गांव की बेटी शीतल सिन्हा साई एंटरटेनमेंट नामक फ़िल्म कंपनी बनाकर निर्देशन की शुरुआत कर रही है। उनके निर्देशन में झारखंड के सामाजिक परिदृश्य की छह लघु फिल्में रिलीज होने को है। चतरा के पितिज गांव के प्रभु दयाल प्रसाद के साधारण परिवार में जन्मी शीतल सिन्हा अभिनय करने के पहले अपनी जीविका चलाने के लिए गुजरात की एक बीमा कंपनी में नौकरी किया करती थी। लेकिन कला के प्रति जुनून ने उन्हें झारखंड के फ़िल्म इंडस्ट्री में काम करने को विवश कर दिया। शुरुआती दिनों में वह एलबम सांग में काम किया करती थी। उसके बाद उन्होंने हिंदी फिल्म शुभ लाभ, यंग इंडिया, भोजपुरी फ़िल्म नाम बदनाम, अग्निपुत्र, पांचाली, रोमियो राजा जैसे फिल्मों में अभिनय किया। सुश्री सिन्हा ए लेटर टू द प्रेसिडेंट, एक गलती, ए हेल्प, माई ड्रीम जैसी शाॅर्ट फिल्मों में भी अभिनय कर के खूब वाहवाही बटोरी। उन्होंने असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पर भी काम किया। उनके कला के प्रति प्रेम को देखते हुए पिछले लोकसभा के चुनाव में चुनाव आयोग के द्वारा मतदाता ब्रांड अम्बेसडर भी बनाया गया था। अभी हाल फिलहाल ड्रग एवं माफिया के ऊपर आधारित पंजाबी फिल्म काली सरहद में भी उन्होंने बेहरतीन अभिनय कर सबको चौंका दिया। सुश्री सिन्हा ने बताया कि, झारखंड में कलाकारों की कमी है, बस जरूरत है उनके कला को पहचानने की। उन्होंने कहा कि झारखंड के कलाकार इंटरनेशनल लेवल पर अपनी कला की प्रस्तुति दे रहे है। उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार झारखंडी कलाकारों को सहयोग करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here